मेरे प्रिय भांजा और भांजी !

                                   ये बात समझ में आयी नहीं !
                                   मामा ने मुझे बतायी  नहीं !!
                                   मैं कैसे मीठी बात करूँ !
                                   जब मैंने मिठाई खायी नहीं !! 


श्रीया

आयुष और अनुष्का

श्रीया

श्रीया

आयुष

आयुष

आयुष

श्रीया

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण)  – (14 जुलाई 2012 को 6:47 am)  

सभी प्यारे-प्यारे बच्चों को शुभाशीष और प्यार!

Pramod Maurya  – (14 जुलाई 2012 को 7:05 am)  

अपना प्रेम और सनेह सदा हम पर बनाये रखना!

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

  © Blogger template Shush by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP